प्यासी भाभी और उसकी सहेली की चूत चुदाई

(Pyasi Bhabhi Aur Unki Saheli Ki Choot Chudai)

मेरा नाम अमित है, मेरी कंप्यूटर सॉफ़्टवेयर ओर हार्डवेयर का ऑफिस है गुजरात में.
मैं और मेरे घर वाले बहुत ही सिम्पल हैं. इस लिए मेरा स्वभाव एक अच्छे लड़के की तरह है. पर क्या पता एक दिन मेरी ज़िंदगी ही बदलने वाली थी. वो ज़िंदगी एक भाभी ने और उसकी सहेली ने बदल दी. उस भाभी का नाम पुष्पा भाभी था. मैंने कभी उसे नहीं देखा था पर पुष्पा भाभी सब कुछ मेरे बारे में जानती थी.

एक दिन मेरे ऑफिस में उसका फोन आया और कहने लगी- यू आर अमित?
मैंने कहा- यस, हाँ बोलिए क्या काम है?
उसने कहा- मेरे घर का कंप्यूटर खराब हो गया है.

पहले मैंने भाभी से कहा- मेरा नंबर कैसे मिला तुम्हें?
तब भाभी ने कहा- कभी कभार मैं तुम्हारे ऑफिस के रास्ते से जाती हूं, तब तुम्हारे ऑफिस का नंबर मुझे तुम्हारे ऑफिस के बोर्ड पर से मिला और मैंने कॉन्टेक्ट किया तुमसे!
मैंने कहा- अच्छा कल मैं आ जाता हूं.
भाभी बोली- नहीं अभी आना होगा!

मैंने कहा- जी अभी नहीं, अभी रात के 8.00 बजे है तो मैं कल आ जाऊँगा.
भाभी कहने लगी- मुझे आज कंप्यूटर में कुछ ज़रूरी काम है इसलिए तुम्हें अभी ही आना होगा.
मैंने कहा- जी अभी नहीं, अभी रात के 8.00 बजे है तो मैं कल आ जाऊगा, पर वो भाभी नहीं मानी, कहने लगी के मुझे आज कंप्यूटर में कुछ ज़रूरी काम है. फिर मुझे भी उस की बात माननी पड़ी और कहा- ओके एड्रेस बताओ?
फिर उसने अपना पता बताया तो वो ठीक मेरी बिल्डिंग के पास वाली बिल्डिंग थी.

मैं वो पते पर गया फिर मैंने कंप्यूटर को देखा तो उसका पीछे का वायर लूज था. फिर मैंने उसे ठीक कर दिया. वो कंप्यूटर चालू हो गया. बाद में मैंने कहा अब मैं चलता हूं मुझे घर जाना है. काफ़ी देर हो गयी है.
पर भाभी ने मुझे कहा कि अब घर नहीं जाओ. यहाँ आज सो जाओ, और मैं भी अकेली हूं तो आज मुझे सोने में अच्छा लगे, तब मैंने न कह दिया कि नहीं मैं यहाँ नहीं सोऊँगा.
पर उसने मुझसे ज़्यादा रिक्वेस्ट किया और कहने लगी कि मेरे पति 15 दिन के लिए आउट ऑफ स्टेट गये हैं, और मुझे भी अकेला महसूस न हो, और मुझे सोने के लिए बहुत मनाया.

मैंने कहा- नहीं मेरे घर वाले भी मेरा इंतजार करते होंगे.
बाद में भाभी कहने लगी- तुम घर पर फोन कर के कह दो कि आज ऑफिस में काम होने के कारण मैं आज नहीं आ पाऊँगा.
मैंने घर पर फोन कर दिया.

बाद में मैंने भाभी से कहा अरे मेरे पास तो नाइट ड्रेस भी नहीं है.
भाभी उसके रूम में जाके पयज़ामा ले के आई और कहने लगी- यह पहन लो.
मैं बाथरूम में जाके फ्रेश होके पयज़ामा पहन के बाहर आया, मैं कहने लगा कि कंप्यूटर चालू है उसे बंद कर दो अब इतनी देर क्यों चालू रखा है?
भाभी कहने लगी कि मुझे उस पर अभी काम है.
मैंने कहा- क्या काम है?
उसने कहा कि मैं रोज़ रात को ब्लू फिल्म देखती हूं और भाभी मुझे से कहने लगी कि क्या तुम्हें पसंद है ब्लू फिल्म. मैंने कहा नहीं मुझे बिल्कुल नहीं पसंद है ब्लू फिल्म.
मैं नींद का बहाना कर के कहा मुझे नींद आने लगी है मुझे सोना है. तुम देखो. भाभी मुझे सोने का बेड दिखाया और कहा यहाँ सो जाओ और मैं बेड पर लेट गया.

बाद में ज़रा उठ कर देखा कि आख़िर भाभी क्या कर रही है तो, सच में भाभी एक एडल्ट ब्लू सेक्सी फिल्म देख रही थी. मुझे उसमें इंटरेस्ट नहीं था इस लिए मैं वापस बेड पर आके लेट गया.

थोड़े टाइम के बाद मैं देखा के मेरे पयज़ामा पर कुछ कोई मेरे लंड को सहला रहा है. मैंने आंखे खोल कर देखा तो भाभी मेरे पास आकर सोई हुई थी. मैं घबरा गया. मैं सोने की एक्टिंग कर रहा था. तब थोड़ी देर देखता रहा तो वो और भी जोश में आके मेरा लंड को ज़ोर ज़ोर से सहलाने लगी. थोड़ी देर बाद वो धीरे धीरे मेरे पयज़ामे में हाथ डालने लगी.

जैसे मैंने उठने की कोशिश की और मैं भाभी को कहने लगा कि यह क्या कर रही हो तो, भाभी कहने लगी कि मुझे बहुत सेक्स चढ़ गया है, मुझे तुमसे चुदवाना है, मैंने कहा नहीं मैं यह काम नहीं करूंगा, मैंने किसी को यह न करने का वादा किया है, उस पर भाभी कहने लगी ओके मुझे मत चोदना पर मुझसे खेल तो सकते हो.

तब भी मैं कहा प्लीज़ मुझे यह सब भी पसंद नहीं है, तब भाभी थोड़ा गुस्सा कर के कहा अगर यह भी मुझसे नहीं किया तो मैं पूरे बल्डिंग वाले को जगा दूँगी कि तुम मेरे घर जबरजस्ती आए हो, और मुझे परेशान करते हो.

तब मैं और घबरा गया. पर भाभी सेक्सी फिल्म देख कर बहुत ही गर्म हो गयी थी. इसलिए वो नहीं मान रही थी और मैंने भाभी को कहा कि अगर तुमने मुझे अब छुआ तो मैं यहा से चले जाऊँगा.

बाद में भाभी भी कहने लगी के ओके तब मैंने कहा ओके सिर्फ़ तुम मेरे साथ खेल सकती हो पर मैं तुम्हें नहीं चोद सकता.
उसने कहा- ठीक है.

भाभी अपने कपड़े पूरी तरह से निकाल दिया और मेरा वाइट टी- शर्ट उतार लिया. वो मुझसे कहने लगी- अब मेरे ये बूब्स के निप्पल को थोड़ा अपने हाथ के ऊँगली से मसल और मैं मचलने लगा. और बाद मेँ कहा अपना मुँह ज़रा मेरे मुँह के पास लाओ.

जब मैं मेरा मुँह उसके करीब ले गया तो उसने अपने हाथ से मेरा सर पकड़ के उसका मुँह मेरे मुँह से किस करने लगा, और वो ज़ोर ज़ोर से स्मूच करने लगी, मैंने कहा अब बस करो मेरा दम घुट रहा है, तब वो और भी जोश में आके उसने करीबन 18-20 मिनट तक स्मूच किया.

तब भाभी अपने हाथ से मेरा हाथ लेके वो अपने बूब्स पर रख दिया और कहने लगी कि अब तुम अपने हाथ से मेरे बूब्स और उसके निप्पल को थोड़ा दबाओ और फिर वो अपने हाथो से मेरे पयज़ामे में धीरे धीरे हाथ डाल दिया और फिर थोड़ा मेरे लंड को हिलाने लगी, और कहने लगी कि यह क्या तुम्हारा लंड कितना छोटा है, पर मैं सच यह कभी नहीं किया था इसलिए मैं घबरा रहा था इसलिए मेरा लंड खड़ा नहीं हो रहा था पर भाभी ने कहा अच्छा इसे मैं अभी ठीक कर देती हूं, फिर वो मेरा पाएजामा उतार लिया, और ज़ोर ज़ोर से दबाने लगी.

फिर भाभी मुझसे कहने लगी कि तुम अब मेरे चुचियाँ को मुँह में लो और एक हाथ से मेरे चूत के ऊपर तुम्हारी ऊँगली फिराओ!

और बस थोड़ी ऊँगली फिराने के बाद वो और भी गर्म हो गयी, और वो फिर मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और वो कहने लगी कि थोड़ा तुम करो अभी मैंने कहा नहीं मैंने किसी को वादा किया है तुम्हें तो मैंने बताया है, मैं नहीं करूँगा तुम्हें और भाभी सोचने लगी कि अब क्या करूं, फिर वो अचानक मेरे सर पर अपनी चूत रगड़ने लगी, और कहा अब मैं अपना हवश ऐसे ही पूरा करूँगी, बस फिर वो ज़ोर ज़ोर से मेरे मुँह को रगड़ रही थी और मैंने कहा इसमें से तो पानी आ रहा है.

भाभी ने कहा यह मेरे चूत का पानी है, तब मेरा मूह पूरा उसके चूत के पानी से भर गया था.

फिर भाभी ने मेरे लंड को चूसने लगी और कहे रही थी कि तुम मेरे चूत को ज़ोर ज़ोर से चूसो नहीं तो मैं तुम्हारे लंड को खा जाऊँगी.

मैं मजबूर हो के थोड़ा थोड़ा चूसता रहा और भाभी मेरा लंड ज़ोर ज़ोर से मुँह में हिला रही थी और क्या पता मेरे लंड में एक गर्मी महसूस हुई और मेरे लंड से गर्म पानी निकला और पुष्पा भाभी हँसने लगी और कहने लगी कि तुम्हारा इतना गाढ़ा पानी और फिर मैंने कहा कि अब मुझे नींद आ रही है मैं सो जाता हूं. पर भाभी मेरे ऊपर पूरे रात तक पड़ी रही और मुझे किस देने लगी.

यह होने के बाद 8 दिन के बाद फिर भाभी का फोन आया और कहा कि मुझे आज फिर वही करना है, मैंने इस बार न कह दिया पर वो मुझसे कहने लगी कि अगर तुम आज रात नहीं आए तो, मैं यह सब से और मेरे पति से कह दूँगी और फिर मुझे उसकी बात माननी पड़ी.

9.00 बजे मैं उसके घर गया, वहाँ जाके देखा तो उसके साथ और एक उसकी सहेली थी, मैंने भाभी से कहा- यह कौन है?भाभी कहने लगी- यह मेरी सहेली पूजा है, और उस दिन की सारी बातें मैंने पूजा को बताई तो वो अब मुझसे ज़िद करने लगी और कहने लगी कि अब फिर से अमित को बुला और हम साथ में ही ऐसा करेंगे!

यह कहानी आप autofichi.ru में पढ़ रहें हैं।

मैं पुष्पा भाभी को कहने लगा- यह सारी बातें तुम अपनी सहेली पूजा को नहीं बताना चाहिए था.
दोनों कहने लगे जाने दो अब क्या अब यह सब बात भूल जाओ, और पूरी रात एंजाय (मज़े) करते हैं.
पर मैंने कहा पर हाँ मैं सिर्फ और सिर्फ और हस्त मैथुन और मुख मैथुन करूँगा.
तब दोनों ने कह दिया- कोई बात नहीं, यही करेंगे.

फिर दोनों अपने अपने कपड़े निकाल दिये, और मुझे भी नंगा कर के वो कहने लगे कि नहीं अमित आज तो हम तुझसे चुदवायेंगे ही, उसके बिना तुझे आज नहीं जाने देंगे. मैंने कहा यह ग़लत बात है मैंने किसी को वादा किया है और तुम्हें तो यह मैंने हर बार कहा है, और मुझे यह सब पसंद भी नहीं है पर वो लोग पूरी तैयारी किये रखी थी.

पूजा ने मुझे एक गोली दी और खा इसे पिलो मैंने कहा यह क्या है, कहने लगी कि यह विएग्रा की गोली है इससे सब लोगो को मज़ा आयेगा. फिर मुझे वो गोली खिला दी , फिर भाभी ने मुझे बिस्तर पर लिटा के कहा कि अमित मैं तुमसे चूदवाना चाहती हूं, उस दिन मैं प्यासी की प्यासी रह गयी पर आज मैं तुम्हें नहीं छोड़ने वाली. फिर पूजा ने मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर चूसने लगी और भाभी को कहा अब तुम अमित के मुँह पर अपनी चूत रख दो और फिर भाभी ने ज़ोर ज़ोर से अपनी चूत घिसने लगी फिर अपने बूब्स को मेरे हाथ में दे दिये और कहा इसे ज़ोर ज़ोर से दबाओ, और मैं मजबूरी के कारण मैं सब करने लगा, और पूजा ने तो मेरा लॅंड खड़ा होते ही मुझे ज़ोर से काट लिया, और कहने लगी अब मैं अमित के लंड को मेरा मज़ा चखाऊँगी. फिर वो उसकी चूत में मेरा लंड डालने लगी, तब मेरा थोड़ा लूज था और नहीं जा रहा था, तब फिर से वो मेरे लंड को मुँह मेँ लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने, और हिलाने लगी ओर कह रही थी, कम ओन, कम ओन, फिर थोड़ी देर के बाद थोड़ा खड़ा हो गया तब चूत में लंड डालने लगी और थोड़ा गया और कहने लगी अब जा रहा है अमित का लंड.

और फिर उसने मेरे ऊपर पूरा का पूरा मेरा लंड उसकी चूत में डाल दिया. फिर पूजा ने मुझ पर ज़ोर ज़ोर से ऊपर नीचे करने लगी और अचानक भाभी कहने लगी अब मुझे करने दे तब पूजा नीचे उतर गयी और भाभी ने मेरा लंड अपनी चूत में धकेल दिया और कहने लगी कि वाह क्या लंड है, और वाकई में मैं महसूस करता था कि उसकी चूत वाकई में भाभी की चूत बहुत ही गर्म थी. और ज़ोर ज़ोर से अंदर बाहर करने लगी और मेरे गोटे को दर्द होने लगा क्योंकि भाभी की गांड बहुत भारी थी और पूजा मुझे उसके बूब्स चुसवाने लगी और बाद में भाभी लगभग 20 मिनट तक मेरे लंड से खेली. उसके बाद फिर से पूजा की बारी आयी, और वो तब बहुत गर्म हो गई थी मुझ पे चढ़ी और बस तब मेरा लंड जवाब देने लगा था और आख़िर वो 4 या 5 शॉट उछालने के बाद मेरा पानी छूट गया, तब वो मुझसे चिढ़ गयी और कहने लगी कि यह क्या मुझे तो मज़ा भी नहीं आया, और मुझे गाली देने लगी, तब भाभी बोली कोई बात नहीं अब थोड़े टाइम के बाद फिर से करते हैं, क्या पता गोली का असर इतनी जल्दी उतर गया कैसे? पूजा बोली कि गोली का असर शायद अब हो तो , तब भाभी ने कहा तब मज़ा ले लेना. मैंने कहा नहीं अभी नहीं प्लीज़ मुझे जाने दो पर वो नहीं मानी कि नहीं अभी रात भर हम तुझे परेशान करेंगे

फिर मैंने कहा मुझे पेशाब करनी है तब पूजा ने कहा हाँ मुझे भी लगी है चल साथ में करते हैं, हम दोनों साथ गये पेशाब करने , पहले मैंने पेशाब किया बाद में पूजा पेशाब करने लगी तब मैं थोड़ा दूर हो गया था, तब कहा अमित ज़रा इधर आना मैं पूजा के पास गया तो उसने मेरा सर पकड़ कर उस पर पेशाब करने लगी, मैंने कहा यह क्या कर रही हो, उसने बोला मुझे ऐसा करने में मज़ा आता है, फिर वो जबर जस्ती मुझे अपनी पेशाब चटवाई, और कहा अमित क्या तुम्हें और पेशाब लगी है, मैंने कहा नहीं मैंने अभी तुम्हारे सामने की है, वो बोली नहीं देखो मैं क्या करती हूं तुम पेशाब करने का ज़ोर करो मैं तुम्हारा लंड चूसती हूं कभी आ जाए तो, मैंने ज़ोर लगाया और उसने इतनी ज़ोर से मेरे लंड को चूसा कि मेरे लंड में से थोड़ा पेशाब आ गया और कहने लगी कि वाह क्या पेशाब पीने का मज़ा आया, और फिर मैं अपने लंड को धोके बाहर आ गया

भाभी ने और पूजा ने मेरे को फिर से बेड पर लेटा दिया. और एक तरफ भाभी और एक तरफ पूजा थी और भाभी ने कहा अमित आज हम लोग चाह रहे है कि तेरा चोदन कर दें, पर तू इतना अच्छा है कि हम को यह नहीं करना चाहिए, और फिर वो दोनों मुझसे किस करने लगे और पूजा मेरा लंड चूसने लगी, और भाभी ने थोड़ा और ऊपर आके उसके बूब्स को चुसवाने लगी, और पूरा का पूरा वजन मुझ पर डाल दिया, यह काम भाभी का चालू था और ,पूजा पूरी गर्म हो कि वो फिर से मेरे लंड पर चढ़ बैठी और ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड और पूरे शरीर को हिलाने लगी , और उसने लग भग 35 मिनट तक करती रही और वो भाभी को कहने लगी कि मेरी चूत 4 बार पानी छोड़ दिया है, और फिर मैंने कहा अरे अब बस करो मेरा लंड दर्द कर रहा है, पर वो लोग इतने जोश में आ गये थे कि मेरी बात नहीं सुन रहे थे, तब फिर भाभी ने कहा मुझे करने दो, पर पूजा नहीं मान रही थी और कहने लगी नहीं जब तक अमित दूसरी बार पानी नहीं छोड़ेगा, तब तक मैं करती रहूंगी, और वो पूरी होश के बाहर चली गयी थी.

और आख़िर थोड़ी देर बाद वो मेरे लंड को बाहर निकाला और फिर चूसने लगी और कहने लगी अमित अपना लंड को मत बैठाओ मुझे मज़े लेने दो, फिर ज़ोर ज़ोर से लंड को खड़ा किया और फिर अपनी चूत में डाल दिया जब वो मेरा लंड अंदर डाला तो मेरे लंड को दर्द देने लगा अरे पूजा मेरे लंड को निकाल दो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, पर पूजा ने यह भी बात नहीं मानी और ज़ोर ज़ोर से मज़े लेने लगी, और काफ़ी देर बाद मेरा लंड पानी छोड़ दिया पूजा की चूत में, मैं और पूजा थोड़ी देर तब एक दूसरे को लिपट कर पड़े रहे, मेरे तो होश ही उड़ गये थे तब, मुझे तब नींद आ गयी थी।

थोड़ी देर के बाद दोनों को और करने की इच्छा हुई, तब उन दोनों सोचा कि अब अमित अपने को नहीं करने देगा और मैं तब सो गया था, जब मेरी नींद खूली तब वो लोग मेरे हाथ और पाव बाँध दिये थे , और फिर वो लोग कहने लगे अमित एक बार और हमें करना है, और इस टाइम हम अपनी गांड मरवाना चाहते है, मैंने उनको रिक्वेस्ट किया कि नहीं प्लीज़ अभी नहीं मेरा लंड बहुत दर्द कर रहा है, और तुम्हारी गांड तो कितनी बड़ी है उसे मैं नहीं झेल सकता, पर पूजा कहने लगी नहीं, हमको तुझे करना ही होगा नहीं तो हम जबर जस्ती में आ जाएगे, मैंने कहा मेरे हाथ पाँव तो खोल दो, पर कहने लगे कि इस टाइम हम गांड वाले है, इसलिए तुझे दर्द कुछ ज़्यादा ही होगा, और हमें भी दर्द होगा इसलिए तुम नहीं करने देगा हमें , इसलिए तुझे बाँधे हुए है, और उसने कहा अब तुम चिंता मत करो थोड़ा मेरे पास जेली क्रीम है वो लगा के करेंगे तब कुछ नहीं होगा.

फिर से दोनों जन मुझ पर सवार हो गये, और पूजा ने कहा पुष्पा भाभी पहले तुम चालू हो जाओ, बाद में मैं करूँगी, और बाद में मेरे लंड के ऊपर क्रीम डाली और मेरे लंड को ऐसा झटका लगा कि मेरी हवा ही निकल गयी, क्योंकि वो क्रीम में एल्कोहल होता है इसे पहले थोड़ा दर्द हुआ मेरे लंड को, फिर पूजा ने पुष्पा भाभी की गांड में क्रीम लगाया, और करने की पोजिशन में आ गई, पर लंड अंदर नहीं जा रहा है. तब पुष्पा भाभी ने कहा पूजा लंड अंदर नहीं जा रहा है, तब पूजा ने मेरा लंड पकड़ा और भाभी की गांड में डाला तब भी बहुत टाइट जा रहा था, तब पूजा ने भाभी की गांड को अपनी ऊँगली से थोड़ा अंदर बाहर करने लगी, फिर दो ऊँगली डाली फिर तीन ऊँगली डाली तब देखा कि पुष्पा भाभी की गांड का छेद थोड़ा खुल गया था. तब फिर मेरा लंड लेकर पुष्पा भाभी की गांड में डाला तब मेरा लंड बस 2 इंच ही जा रहा था, और मैं चिल्ला रहा था- भाभी बस अब बस, तब पूजा ने मेरे मुँह पर उसका मुँह रख दिया और उसकी साँस मेरे मुँह के अंदर आ रही थी और मेरी आवाज़ कम सुनाई देने लगी, पर उसे तो और जोश आ रहा था, वो और भी ज़ोर ज़ोर से मुझसे अपनी गांड मरवाने लगी, और मेरे होश उड़ने लगे थे, फिर भाभी थोड़ी देर
बाद थकने लगी, तब पूजा बोली अरे पुष्पा तुझमें तो कुछ दम ही नहीं है, हट अभी मुझे गांड मरवाने दे, भाभी थक गयी थी इस लिए वो हट गयी.

फिर पूजा ने कहा- अब पुष्पा तू लेट जा!
पुष्पा लेट गयी, फिर उसके ऊपर मुझे लेटाया, मैं पुष्पा के ऊपर था. फिर मेरे ऊपर पूजा चढ़ गयी और मेरा लंड पकड़ कर अपनी गांड में डालने लगी पर पूजा ने क्रीम नहीं लगाई थी, इसलिए फिर उतर कर क्रीम लेके अपनी गांड में लगाई, फिर चढ़ी और मेरे लंड को अपने हाथ से अपनी गांड में डालने लगी पर नहीं जा रहा था
मैंने कहा- नहीं जा रहा है तो अब उतर जाओ, बस हो गया.
पूजा ने कहा यह मैं करके रहूंगी, तब पूजा ने कहा पुष्पा नीचे से हाथ डाल और अमित का लंड मेरी गांड में डाल, तब पुष्पा ने नीचे से हाथ डाल कर मेरे लंड को पकड़ के पूजा की गांड में डालना चाहा पर टाइट हो रहा है.

तब पूजा ने कहा- अमित के लंड को मेरे गांड के होल के सामने कर मैं ज़ोर से झटका देती हूं.
जब पूजा ने ऐसा झटका दिया कि पूरा लंड पूजा की गांड में चला गया.

बाद में कहने लगी- अमित अब तू तो गया!
मैं तो इसकी बात सुन कर घबरा गया, मैंने कहा- पूजा ऐसा मत करो मैंने मेरा लंड छिल जाएगा.
पर वो बोली- अमित हम दोनों को तेरा यह लंड अच्छा लगा है इसलिए इसको हम इतनी आसानी के साथ कैसे छोड़ सकती हैं?
फिर पुष्पा भाभी नीचे से मेरी गांड के होल में अपनी ऊँगली डाल रही थी उसने मेरी गांड में उसकी बीच की ऊँगली पूरी की पूरी डाल दी, फिर पूजा भी गांड मरवाते मरवाते थक गयी, फिर उसने नेपकिन पेपर लिया और मेरे लंड को साफ किया, फिर उसने मुँह से में मेरे सुपारे को चाटने लगी

और नीचे से पुष्पा भी ऊपर आ गयी, और मुझे लिटा के पुष्पा ने मेरे सर पर उसकी चूत रख दी और ज़ोर ज़ोर से मेरे मुँह से रगड़ने लगी, और कहने लगी- इसको चूसो अमित!
और पुष्पा की चूत का पानी मेरे मुँह और गाल से भर गया, मैंने कहा- पुष्पा, तुम्हारे चूत का पानी बहुत ही बाहर आ रहा है.
पर उसने बोला कि बस थोड़ी देर और मैं झड़ने वाली हूं, फिर मेरे हाथ की ऊँगली को लेके पुष्पा अपनी गांड में डालने लगी और नीचे मेरे लंड चूसने का पूजा मज़ा ले रही थी, वो थूक लगा के मेरे लंड को चूस रही थी, और बस अचानक मेरे लंड का पानी पूजा के मूह में छूट गया, और मैं ठंडा पड़ने लगा पर पुष्पा अभी तक नहीं झड़ी थी, और मेरे 3 मिनट के बाद वो झड़ गयी और मेरा मुँह को पूरा भर दिया था

फिर मैंने कहा- बस अब नहीं!
पर वो लोग कहा अब तुम्हें इसी तरह कभी कभार आना पड़ेगा, मैंने न कह दिया अब अपना सेक्स इतने ही तक है पर वो दोनों नहीं माने कहने लगे कि अगर हम बुलाए और तुम नहीं आए तो, तुम्हारे और हमारे बीच जो हुआ है वो सब को बता देंगे.
मैंने कहा- यह तो ब्लॅक मैल है.
तब पूजा ने कहा यह ब्लॅक मैल नहीं यह तो हमारी चूत का नशा हे तुम्हारे कुंवारे लंड का मज़ा लेने के लिए और वो दोनों हँसने लगी और इस तरह जब दोनों मुझे बुलाती है तब मुझे जाना पड़ता है और भाभी और पूजा अपनी मज़े लेने लगती है। तो मेरे इंडिया के भाभी और आंटी तुम्हारी क्या राय है मुझे कैसे इनसे छुड़ा सकते है.



hotsexstorychudai"baap beti ki sexy kahani hindi mai""sexy aunty kahani""sexy hindi real story""real hindi sex story""bahan ki chut""xossip hindi kahani""www.kamukta com""hindi bhai behan sex story""bhai bhan sax story""chudai ka maja""bhai bahan sex store""hindi sex stoy""indian xxx stories""hindisex stories""girlfriend ki chudai ki kahani""kajal sex story""bhabhi ki chudai kahani""very sexy story in hindi""hotest sex story""choti bahan ki chudai""sex story mom""chachi ki chut""hot sex story in hindi""saxy hot story""sex stori in hindi""tamanna sex stories""sex ki kahani""sexy storis in hindi""sex story mom""desi chudai kahani""mom sex story""hindi sex stori""maa sexy story""hot hindi sex stories""sister sex story""gay sex hot"chudaikahaniya"rishton mein chudai""kamukata sex story com""nangi chut ki kahani""desi girl sex story""hot indian story in hindi""real sex stories in hindi""hindi sex storie""hindi sexy kahniya""train me chudai ki kahani""train sex story""kamvasna khani""behan ko choda""new kamukta com""group chudai""hot sex story in hindi""hindi sexy storiea""risto me chudai""www sex storey""sapna sex story""sucksex stories""porn story hindi""hindi sex story""mom chudai story"www.chodan.comkumkta"sex storirs""new sex hindi kahani""hot store hinde""randi sex story""wife sex story in hindi""group chudai kahani""hindisex kahani""latest sex story hindi""teacher ki chudai""chudai ki kahaniyan""kamukta com""kamvasna kahaniya""hindi sexi"freesexstory"desi chudai stories"sex.stories