दो भाभी की चूत गांड का मज़ा

Do bhabhi ki chut aur gaand ka maza

मैं पढ़ाई के लिए दिल्ली आया और एक कमरा लिया रहने के लिए. मकान मालकिन भाभी को देख कर लगा कि ये चूत दे देगी. मैंने उनसे नजदीकी बढ़ानी शुरू कर दी और …

लेखक की पिछली कहानी: दिल्ली की भाभी और आंटी की गंदी चुदाई
दोस्तो, मेरा नाम अदित्य है. मैं पढ़ाई के लिए दिल्ली 2015 में आया था. मैंने आते ही एक कमरा किराये पर लेना चाहा.

एक मकान में कमरा था, उसमें मकान मालिक की फैमिली में 3 लोग रहते थे मकान मालिक भाभी और एक भैया और उनकी बच्ची.
मैंने भाभी से पूछा- भाभी सिंगल रूम है या डबल रूम?
तो उन्होंने बताया- सिंगल रूम. आपके लिए सिंगल ही सही रहेगा.
भाभी ने पूछा- आप क्या करते हो?
तो मैंने बताया- भाभी, मैं पढ़ाई करने आया हूं दिल्ली में और यहां पढ़ाई करके घर जाऊंगा.

उन्होंने पूछा- आपके मां-बाप कहां रहते हैं?
मैंने बताया- आंटी, सभी लोग गाँव वाले घर पर रहते हैं, मैं अकेला शहर में पढ़ने आया हूं.
उन्होंने मुझसे बोला- मैं आंटी दिखती हूं?
मैंने बोला- नहीं नहीं, गलती हो गई. सॉरी माफ करना, भाभी हो आप तो!

उन्होंने हल्की सी मुस्कान दी और अपने कमरे में चली गई. जाते जाते मेरे से बोली- अगर कुछ लेना हो तो मुझे बता देना.
मैंने कहा- ठीक है भाभी जी!

मैंने अपने कमरे की साफ सफाई की और किताबें रखी अलमारी में! बिस्तर लगाया और मैं सो गया.

फिर अगले दिन जब मैं उठा तो मैंने भाभी से पानी की बोतल मांगी. उन्होंने मुझे बोतल दी और बोली- और कुछ लेना हो तो मुझे बता देना.
मैंने मन ही मन सोचा कि मुझे तो बहुत कुछ लेना है.
फिर मैं अपने कमरे में चला गया.

इस तरह दोस्तो … काफी दिन गुजर गए. भाभी से मेरी थोड़ी बहुत बातचीत होती थी.

फिर उसके बाद 2 महीने बाद मैंने भाभी से पूछा- भाभी, भैया क्या करते हैं?
तो उन्होंने बताया- वे एक प्राइवेट कंपनी में इंजीनियर हैं और नाइट शिफ्ट की ड्यूटी करते हैं.
इस तरह मुझे पता चला.

फिर धीमे-धीमे हम लोग बात करते थे.
मैं पढ़ कर आता था और पानी की बोतल लेता था.
वह मुझे बहुत अच्छी लगने लगी थी.

मैंने एक दिन भाभी से बोला- आप इतनी मुलायम कैसे हो? मसाज वगैरह करवाती हो?
तो उन्होंने कहा- नहीं, पर पहले करवाती थी. अब तो काफी दिन हो गए.
मैंने पूछा- क्यों?
उन्होंने बताया- पहले मैं एक पार्लर में जाती थी. अब पार्लर बंद हो गया है इसलिए.
तो मैंने कहा- भाभी, आप चिंता मत करो. आप घर पर ही मालिश करवा लो.

भाभी ने पूछा- घर पर कौन आयेगा मेरी मालिश करने?
मैंने बोला- भाभी, मैं पढ़ाई करता हूं और पढ़ाई के साथ मसाज भी कर लेता हूं.
तो उन्होंने कहा- क्या तुम मेरी मसाज करोगे?
मैंने कहा- भाभी, इसमें क्या दिक्कत है?

तो उन्होंने बोला- ठीक है, तुम्हारे भैया की नाईट शिफ्ट होती है. जब वे चले जाएंगे शाम को, तो तुम मेरी मसाज करना.
मैंने कहा- ठीक है.

अब मैं बेसब्री से इंतजार कर रहा था. और शाम के 7:00 बजे निकल गए भैया!
फिर मैं भाभी के रूम पर गया और उनका दरवाजा खटखटाया.
तो उन्होंने दरवाजा खोला.

भाभी मैक्सी पहने हुए थी, एकदम परी लग रही थी. मैं तो देखता रह गया.
मैं बोला- भाभी आप तो बहुत सुंदर लग रही हो.
भाभी ने मुझे धन्यवाद बोला और कहा- चलो अंदर और मसाज करो मेरी. ज्यादा बातें मत कीजिए, सिर्फ काम पर ध्यान दीजिए.

मैं अंदर गया और बिस्तर पर लेट गया.
भाभी ने कहा- लेटने के लिए नहीं बुलाया, काम करो जिसके लिए आये हो.
तो मैंने भाभी से बोला- आप अपनी मैक्सी निकाल दीजिए.
उन्होंने बोला- तुम खुद ही निकाल लो.
मैंने कहा- ठीक है.

फिर मैं भाभी के पास गया और उनकी मैक्सी निकालने लगा. मैक्सी के नीचे उन्होंने कुछ नहीं पहना था, बिल्कुल नंगी थी.
मैं उन्हें देखने लगा.
उन्होंने कहा- शरमाओ मत, काम करो.

फिर मैंने भाभी से बोला- आप बिस्तर पर लेट जाइए.
भाभी ने बिस्तर पर एक और चादर बिछायी और लेट गयी.

मैंने भाभी की पीठ पर डाला और थोड़ी मसाज की. मैंने उनके पैरों से लेकर गांड चूत सब पर मैंने मसाज की.
उन्होंने बोला- ठीक है, अब शावर लेते हैं हम लोग! आप भी गंदे हो गए हो मसाज करते करते!

मैं और भाभी दोनों नहाने चले गए. नहा कर बाहर आए.
भाभी ने कहा- आपने मेरी मसाज बढ़िया की. मुझे बहुत अच्छा फील हो रहा है.

फिर मैंने भाभी से बोला- कुछ भी कर लें क्या?
तो उन्होंने बोला- और कुछ क्या?
मैंने कहा- जब मसाज कर ली, सब कुछ देख लिया तो मेरे मन की इच्छा भी कर दो पूरी!

तो उन्होंने कहा- आप क्या कर सकते हो मेरे साथ?
मैंने कहा- जो आप बोलो, वो कर सकता हूं. और ऐसे कर सकता हूँ कि जैसा कोई ना कर पाए.
तो उन्होंने बोला- आप नहीं कर पाओगे.
मैंने कहा- मैं कर लूंगा.

उन्होंने बोला- मुझे बहुत रफ एंड डर्टी सेक्स पसंद है.
तो मैंने भाभी से बोला- भाभी, मुझे भी यही सब पसंद है.
उन्होंने बोला- ठीक है तो शुरू करते हैं.
फिर मैंने कहा- भाभी ठीक है.

हम दोनों बिस्तर पर लेट गए और हम लोग फ्रेंच किस करने लगे. 10 मिनट तक फ्रेंच किस की. फिर मैं सीधा नीचे उतर कर बिस्तर से भाभी के गोरे-गोरे पैर की खुशबू लेने लगा और उन्हें चाटने लगा.
10 मिनट तक उनके तलवे चाटे मैंने … उसके बाद मैंने भाभी के पूरे पैर चाटे.

भाभी बोली- मुझे ऐसे ही लड़के पसंद हैं जो मेरे पूरे बदन को चाट कर रख दें.
मैंने कहा- ठीक है भाभी, मैं आपको पूरा संतुष्ट कर दूंगा. आप चिंता ना करें, मैं आपका गुलाम बनकर रहना चाहता हूं. आपको तो पीना चाहता हूं. आपके पैरों के नीचे रहना चाहता हूं हमेशा!
भाभी को भी मेरी बात पसंद आई. उन्होंने कहा- ठीक है गुलाम, आज से तू मेरी गुलामी करेगा. जो मैं बोलूंगी वह करोगे.

फिर भाभी ने मुझे नीचे लिटाया और मेरे चेहरे पर अपनी चूत रखकर बैठ गई और मुझे चाटने को बोला.
मैं भाभी की चूत कुत्तों की तरह चाट रहा था. आधे घंटे तक मैंने भाभी की चूत चाटी. भाभी मेरे मुंह में झड़ गई और मैं उनका अमृत रस पी गया.

फिर भाभी ने बोला- मेरी बगलें आज तक किसी ने नहीं चाटी. टू मेरी आर्मपिट में जीभ डाल कर चाट.
मैं उनकी बगलें चाटने लगा.

फिर उन्होंने मेरे मुंह में थूका.
मैं उनका थूक पी रहा था.

फिर भाभी उठी और मुझसे बोली- तेरा लंड कितना बड़ा है?
मैंने भाभी को बताया- मेरा लंड 8 इंच का है और बहुत मोटा है.
फिर मैंने भाभी को नाप कर दिखाया और वह मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चाटने, चूसने लगी. फिर मैं उनके मुंह में झड़ गया.

तब मैंने भाभी को कुतिया बनने को बोला. वह डॉगी स्टाइल में हो गई.
अपने दोनों हाथों से मैंने उनके गोरे गोरे चूतड़ों को अपने हाथों से फैलाया और भाभी का एकदम काला छेद दिखाई दिया. वह काला छेद गांड का छेद था. उसमें से बहुत अच्छी खुशबू आ रही थी.
मैंने अपनी 4 इंच लंबी जीभ निकाली और उनकी गांड में रख कर चाटने लगा. दोस्तो, मुझे भाभी आंटी की गांड चाटना बहुत पसंद है. मैं भाभी की गांड में पूरी जीभ घुसा कर चाटने लगा.
भाभी सिसकारियां ले रही थी. भाभी बोली- तुम ऐसे ही चाटते रहो! यह वाला क्षेत्र आज तक किसी ने नहीं चाटा. मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

मैं आधे घंटे तक लगातार भाभी की गांड में जीभ चला रहा था, अंदर बाहर कर रहा था. उनको बहुत अच्छा लग रहा था.

फिर मैंने भाभी को खड़ा किया एक पैर बेड पर एक जमीन पर. मैंने अपना लंड उनकी चूत पर रखा और एक झटका मारा. मेरा सीधा लंड उनकी चूत के अंदर समा गया और मैं ऊपर नीचे झटके लगा रहा था.

करीब 20 मिनट तक लगातार चुदाई की मैंने, उसके बाद मैं झड़ गया.
मैंने भाभी से पूछा- भाभी, कैसा लगा आपको?
तो उन्होंने बताया- मुझे बहुत आनंद आया. ऐसा मैंने कभी जीवन में नहीं सोचा था. आज मैं बहुत संतुष्ट हूं. तुम मुझे इसी तरह खुश करते रहो.
मैंने कहा- आप चिंता ना करें. जब तक मैं दिल्ली में हूं, आपको हमेशा खुश रखूंगा.

यह कहानी आप autofichi.ru में पढ़ रहें हैं।

उसके बाद हम लोगों ने 10 मिनट तक आराम किया. फिर मैंने भाभी से बोला- मुझे आपकी गांड मारनी है.
भाभी ने कहा- ठीक है, पर आपका 8 इंच का लंड है कैसे जाएगा अंदर? आप तो मार डालोगे मुझे?
मैंने कहा- नहीं, कुछ नहीं होगा. आप चिंता मत करें. मैंने अपनी जीभ डाल कर आपकी गांड को बहुत मुलायम कर दिया है.

फिर जैसे-तैसे मैंने उनको तैयार किया और उसके बाद मैंने डॉगी स्टाइल में करके उनको अपना 8 इंच का लंड उनकी गांड पर टिका दिया. फिर धीरे धीरे पूरा लंड भाभी की गांड के अंदर घुसा दिया और उसके बाद 15 मिनट तक लगातार भाभी की गांड की चुदाई की.
भाभी बोली- बहुत अच्छा लग रहा है. ऐसे ही चोदते रहो मुझे.

मैं कुछ और देर तक चलता रहा फिर मैं भाभी की गांड में झड़ गया. हम दोनों लोग बिस्तर पर लेट गए.

थोड़ी देर लेटने के बाद उन्होंने बोला- अब मेरी मालिश कर दो. सुबह के 4:00 बज चुके हैं. एक घंटा मालिश कर दो, फिर मैं सो जाऊंगी. फिर मेरे पति आ जायेंगे.

तो फिर मैंने भाभी की अच्छे से मालिश करी और अपने कमरे में चला गया.

दोस्तो, इस तरह मैं अपनी इन भाभी को रोजाना चोदता हूं और मैं उन्ही यहां किराए पर रहता हूं.

फिर अगले दिन सुबह के 10:00 बजे भाभी के पास में गया और उनसे बोला- आपको कैसा लगा?
उन्होंने बताया- मुझे बहुत अच्छा लगा.

मैं पढ़ने के लिए जा रहा था, तभी भाभी ने मेरे से बोला- मेरी एक सहेली है. क्या तुम उसे चोद सकते हो?
मैंने कहा- हां भाभी बिल्कुल! आप बात कर लो उनसे!
तो उन्होंने कहा- ठीक है, मैं बात करके बताऊंगी.

फिर अगले दिन भाभी ने अपनी सहेली से बात की और वह तैयार हो गई. मैं अपने कमरे में चला गया. शाम को भाभी ने मेरी कुंडी खटखटाई.
मैंने पूछा- भाभी आप इस टाइम?
उन्होंने कहा- आपके भैया ऑफिस चले गए हैं.
तो मैंने कहा- फिर तो आप उस औरत को बुला लीजिए!

भाभी ने नीचे से दूसरी भाभी को बुलाया और मेरे कमरे में ले जाकर हम तीनों लोग बैठ गए. हम बातें करने लगे.
फिर भाभी ने बोला- मैं आप लोगों के लिए कुछ बना कर लाती हूं. तब तक आप दोनों लोग बातें करो.

हम लोग बातें करने लगे. मैंने उनसे पूछा- आपको क्या पसंद है?
तो उन्होंने कहा- मुझे सब कुछ पसंद है, बस बहुत देर तक चोदना मुझे.
मैंने कहा- आप बिल्कुल चिंता मत करो. आज फुल नाइट मैं आपको एकदम खुश कर दूंगा.

भाभी की सहेली ने मुझसे कहा- तो तुम अपनी चीज का कमाल दिखाओ?
मैंने कहा- आप 10 मिनट और रुको, भाभी को आने दो. फिर आपको और उनको दोनों को खुश कर दूंगा.

फिर भाभी चाय लेकर आई र हम तीनों ने चाय पी.

इसके बाद भाभी ने कहा- अब शुरू करते हैं.
मैंने कहा- ठीक है. आप लोग अपने अपने कपड़े उतारो.
तो भाभी की सहेली ने मुझसे बोला- तुम हम दोनों के गुलाम हो तो यह काम तुम करोगे.
मैं तैयार हो गया इस काम के लिए और एक एक करके दोनों भाभी के कपड़े उतारने लगा.

भाभी की सहेली की उमर लगभग 35 साल की होगी.

मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और हम तीनों लोग नंगे हो गए.
भाभी मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. भाभी की सहेली ने कहा- तुम मेरी चूत चाट लो तब तक.

मैं भाभी की सहेली की चूत चाट रहा था. उनकी चूत तो भाभी से भी मजेदार लग रही थी और मैं उनकी चूत कुत्ते की तरह चाट रहा था.
फिर भाभी उठी और बोली अपनी सहेली से- तू उसका लंड चाट, मैं इसके मुंह पर बैठकर चूत चटवाती हूं.

फिर इस तरह कुछ देर तक ओरल चुदाई हुई. फिर मैंने भाभी की सहेली को बेड पर लिटाया और उनकी टांगें अपने कंधे पर रखकर अपना लंड भाभी की चूत में डाल दिया और चुदाई करने लगा.
भाभी को बहुत मजा आ रहा था.

और साथ साथ मैं अपनी वाली भाभी की गांड में उंगली डालकर अंदर बाहर कर रहा था, उनकी गांड चुदाई कर रहा था. थोड़ी देर लगातार धक्के मारने के बाद मैं भाभी की सहेली की चूत में झड़ गया.

दोस्तो, मैंने इस तरह इन दो भाभी की चुदाई की.

उसके बाद तो मैं नियमित रूप से इन दोनों भाभी की चूत और गांड का मजा लेने लगा.

आप लोग मुझे मेल कर के बताओ कि मेरी कहानी कैसी लगी आपको?
मेरा मेल है
bommaaditya 143



"bhen ki chodai""saxy hinde store""sex hindi stories""mom son sex story""devar bhabhi ki sexy story""chodai ki kahani""bahu sex""hot n sexy story in hindi""hindi me sexi kahani""hindi sexstory"mastaram.net"first time sex story""sexy khani""kamuta story""bhanji ki chudai""hindi sexy stories in hindi""indian sex hot"hotsexstory"mom sex stories""sex stroy""sexey story""hindi gay kahani""sex with chachi""tamanna sex story""sexy aunti""maa beta ki sex story""kamwali bai sex""land bur story""first chudai story""hindi sexystory com""hot sax story""hindi sex khanya""chut me land""kajal ki nangi tasveer""bhabhi nangi""hot hindi sex store""porn kahaniya""hot desi sex stories""haryana sex story""bhai behn sex story""real sexy story in hindi""www sex storey""gand chudai ki kahani""hindi sex storis""sex story in hindi with pics""group sex stories in hindi""sexi story""hot sexy stories""sexy story in hindhi""biwi ki chut""mother son sex stories""incent sex stories""sexy chachi story""sex ki kahaniya""hindi sexstoris""hinde sex story""www chodan dot com""sex storis"indiansexkahani"honeymoon sex story""free hindi sexy kahaniya""bus me chudai""hot stories hindi""saxy hindi story""hindi sexy new story""सेक्सी कहानी""real sex stories in hindi""hindi chudai kahani""hindi sex chat story""adult sex story""hindi sex story""adult sex story""hindi sexi satory""sexi kahani""maa bete ki sex story"chudai"chudai ki bhook""khet me chudai""papa ke dosto ne choda""maa beta sex story com""kuwari chut story""hindisex katha""sex storiea""sexy group story""cudai ki kahani""real hot story in hindi""baap beti ki chudai""mausi ki chudai ki kahani hindi mai""indian saxy story""train me chudai""hot khaniya""hindi kahani hot""mom sex story"