भाभी को चुदवाया उसके यार से

(Bhabhi ko chudwaya uske yar se)

हैल्लो फ्रेंड्स मेरा नाम रवि है और में दिल्ली का रहने वाला हूँ. दोस्तों में आज जो कहानी में आप सभी को सुनाने जा रहा हूँ.. यह एक सच्ची कहानी है और यह मेरी इस सेक्स वेबसाइट पर पहली कहानी है. में इस साईट का बहुत बड़ा फेन हूँ क्योंकि ये सेक्स वेबसाइट सभी सेक्स वेबसाइट में सेक्स कहानियों की नम्बर 1 वेबसाईट है और मुझे इस साईट की सभी कहानियाँ बहुत अच्छी लगती है. अब में आप सभी का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी पर आता हूँ. दोस्तों मेरे भाई की शादी आज से करीब 4 साल पहले हुई थी और मेरी भाभी का नाम बबीता है.. मेरी भाभी की हाईट 5 फिट 4 इंच है और रंग बहुत गोरा है. मैंने एक बार चोरी छिपे अपनी भाभी की ब्रा देखी है जिस पर साईज़ 36 लिखा था.. इससे आपको भाभी के बूब्स का साईज़ तो पता चल ही गया होगा और भाभी की कमर 29 है.

दोस्तों मेरे भाई सेल्स एग्ज़िक्युटिव है और वो ज़्यादातर घर से बाहर ही रहते है. करीब एक महीने पहले जब में ऑफिस से घर आया तो मेरी फेमिली किसी शादी में गई हुई थी.. लेकिन भाभी घर पर ही थी. उस रात में करीब 11 बजे जब में पानी पीने के लिए उठा तो मैंने देखा कि भाभी के कमरे से हल्की हल्की आवाज़ आ रही थी मुझे लगा कि भाभी भैया से बात कर रही होंगी.. इसलिए में दरवाज़े पर कान लगाकर सुनने लगा.. लेकिन मुझे कुछ ठीक से सुनाई नहीं दे रहा था.. इसलिए में वापस अपने कमरे में सोने चला गया. फिर सुबह जब मैंने भाभी के कमरे में जाकर भाभी का फ़ोन चेक किया.. तो मैंने देखा कि जिस नंबर पर भाभी बात कर रही थी.. वो नंबर किसी और का था. मैंने वो नंबर अपने पास लिख लिया और चुपचाप भाभी के कमरे से चला गया.

फिर अगले दिन मैंने अपने एक दोस्त से भाभी के नंबर की कॉल डिटेल निकलवाने को कहा.. उसने उसी दिन शाम को मुझे कॉल डिटेल मैल कर दी. जब मैंने उस मैल को चेक किया तो पाया कि भाभी रोज़ रात को उस नंबर पर कई कई घंटो तक बात करती थी और फिर मैंने अपने उसी दोस्त को उस नंबर के मालिक का नाम और पता मालूम करने को कहा.. जिसका पता मेरी भाभी के घर के बिल्कुल पास का ही था और उस मालिक का नाम राजीव था. तभी मुझे कुछ गड़बड़ लगी तो मैंने अपनी एक दोस्त से उस नंबर पर कॉल करवाया तो पता चला कि यह नंबर किसी ऑटो वाले का है. फिर 2-3 दिन तक तो मैंने भाभी से इस बारे में कुछ बात नहीं की.. लेकिन एक दिन जब घर पर कोई भी नहीं था तो मैंने भाभी से पूछा कि भाभी यह नंबर किसका है? तभी भाभी नंबर देखते ही डर गयी और झूठ कहने लगी कि मुझे पता नहीं किसका है? तो मैंने भाभी से कहा कि ठीक है तो फिर भैया ही पता कर लेंगे कि यह नंबर किसका है? तो भाभी बिना कुछ बोले मेरे रूम से बाहर चली गई और फिर थोड़ी देर बाद आकर मुझसे सॉरी कहने लगी और जब मैंने पूछा कि सॉरी किस बात के लिए तो उन्होंने कहा कि यह नंबर उनके पुराने बॉयफ्रेंड का है जिसे वो हर रोज जब भी टाईम मिलता चुप चुपकर कॉल किया करती है और यह बात कहकर भाभी रोने लगी. मैंने भाभी को चुप होने को कहा और अपने रूम में चला गया. मैंने भाभी को फिर अपने रूम में बुलाया और पूछा कि यह सब कितने दिनों से चल रहा है? तो भाभी ने बताया कि शादी के पहले से उनका अफेयर राजीव के साथ चल था और वो अभी तक भी चल रहा है. फिर मैंने भाभी से पूछा कि क्या आपने कभी राजीव के साथ सेक्स किया है? तो भाभी ने कुछ भी नहीं कहा और मैंने फिर से यही सवाल पूछा तो भाभी फिर भी चुप ही रही तो मैंने कहा कि ठीक है यह बात में भैया को बताऊंगा.. तभी यह बात सुनते भाभी ने मेरे दोनों हाथ पकड़ लिए.. उनका चेहरा पसीने से भर चुका था.. वो टेंशन से लाल हुई जा रही थी और फिर उन्होंने कहा कि में बहक गयी थी.. प्लीज मुझे माफ़ कर दो.. में दोबारा कभी भी ऐसा नहीं करूंगी और में आज अभी से उससे बात करना बंद कर दूंगी.. लेकिन तुम अपने भैया को कुछ भी मत बताना प्लीज. तो मैंने थोड़ा सोचकर कहा कि.. लेकिन में एक शर्त पर आपको माफ़ करूँगा. तो भाभी ने कहा कि बताओ क्या शर्त है?

तो मैंने कहा कि आप किसी दिन राजीव को घर बुलाओ और घर पर ही उसके साथ सेक्स करो मुझे आपको सेक्स करते हुए देखना है.. लेकिन भाभी ने मना कर दिया और कहने लगी कि में आपसे माफी माँग तो रही हूँ.. फिर भी आप ऐसा क्यों कह रहे हो. तो मैंने भाभी को कहा कि जैसा में कह रहा हूँ अगर आपने वैसा नहीं किया तो में भैया को आपकी सभी बातें जो आपने मुझे अभी बताई है सब कुछ सच सच बता दूँगा. तभी भाभी ने कहा कि वो मेरे सामने सेक्स नहीं कर सकती. तो मैंने भाभी को कहा कि जब आप राजीव के साथ सेक्स कर रही होंगी तो में आपको एक छेद से देखूँगा और चुप रहूँगा.. लेकिन राजीव को यह बात पता नहीं चलना चाहिए कि में आप दोनों को सेक्स करते हुए देख रहा हूँ. फिर भाभी ने डरते हुए मुझसे पूछा कि.. लेकिन यह सब कैसे होगा? घर पर तो हमारे अलावा और भी लोग रहते है. तो मैंने कहा कि जिस दिन घर पर कोई भी नहीं होगा उस दिन आप राजीव को फ़ोन करके घर बुला लेना और में घर में कहीं पर छुप जाऊंगा.

तभी भाभी मेरी पूरी बात सुनकर मान गई और उस दिन के बाद भाभी बहुत खुश रहने लगी और मुझे भी बहुत अच्छे से रखने लगी और वो दिन भी जल्दी ही आ गया.. जिस दिन मेरा पूरा परिवार मामा के घर जा रहा था. मैंने घरवालों के जाते ही मैंने भाभी को कहा कि आप राजीव को फ़ोन करके बुला लो.. तो भाभी ने उसी वक़्त राजीव को कॉल किया और घर पर आने को कह दिया और घर का पता भी लिखवा दिया. फिर मैंने भाभी को नहा लेने को कहा और यह भी कहा कि खुद को अच्छी तरह से साफ कर लेना और फिर भाभी मेरा मतलब समझ गई कि में क्या साफ करने को कह रहा हूँ. तो दिन के करीब एक बजे राजीव ने फ़ोन किया कि में आपके घर पहुंचने वाला हूँ.. तभी यह सुनते ही भाभी के चेहरे एकदम पर चमक आ गयी और में भी अपने रूम में जाकर छुप गया और राजीव के आने का बड़ी बेसब्री से इंतज़ार करने लगा.

फिर में अपने रूम के होल से में दरवाजे को देख रह था क्योंकि अभी राजीव वहीं से अंदर आने वाला था. तभी करीब 10 मिनट बाद डोर बेल बजी और भाभी ने दरवाज़ा खोला तो राजीव सामने खड़ा था और राजीव को देखकर मुझे लगा कि अगर भाभी का अफेयर राजीव के साथ था तो इसमें भाभी की कोई ग़लती नहीं थी.. क्योंकि राजीव बहुत स्मार्ट और हेंडसम लड़का था. फिर भाभी ने उसे रूम में बैठाया और पीने को पानी लाकर दिया.. थोड़ी देर तो राजीव हमारे घर को ही देखता रहा और शरमाता रहा. फिर वो भाभी से बोला कि तुम तो शादी के बाद और भी सुंदर हो गयी हो.. मेरी भाभी ने जवाब में एक स्माईल पास कर दी. मेरा तो लंड पहले ही खड़ा हो चुका था और यह सब देखकर मुझे अब और इंतज़ार नहीं हो रहा था.. तो मैंने अपने रूम से भाभी को कॉल किया भाभी ने मेरा नंबर देखकर राजीव से थोड़ा दूर जाकर मुझसे बात की.. तो मैंने कहा कि भाभी राजीव को अपने रूम में ले जाओ और अंदर से रूम बंद कर लेना और फिर मैंने कॉल कट कर दिया. भाभी ने राजीव को अपने रूम में बुलाया और राजीव भाभी के पीछे पीछे भाभी के रूम में चला गया और जब दरवाजा बंद होने की आवाज़ आई तो में चुपके से अपने रूम से निकला और में भाभी के रूम के दरवाजे की चाबी के होल से अंदर का नज़ारा देखने लगा. अंदर भाभी और राजीव एक ही बेड पर बैठे हुए थे और थोड़ी देर चुप रहने के बाद राजीव ने पूछा कि तुम्हारे घर वाले कहाँ गये? तो भाभी ने कहा कि घर के सभी लोग मामा के घर गये हुए है और शाम तक वापस लोट आएँगे. फिर राजीव भाभी के और पास आकर बैठ गया और अपने हाथ भाभी के हाथ पर रख दिया भाभी थोड़ा शरमा कर खड़ी हो गई.. लेकिन राजीव ने भाभी का हाथ पकड़ कर फिर से बेड पर बैठा दिया. आज भाभी ने नील कलर की साड़ी और नील कलर का ही गहरे गले का ब्लाउज पहना हुआ था.. जिसमे से भाभी के बड़े बड़े बूब्स की गहराईयां नज़र आ रही थी.

यह कहानी आप autofichi.ru में पढ़ रहें हैं।

राजीव भाभी के बूब्स की तरफ घूर घूरकर देख रहा था.. तो भाभी ने राजीव के गालों पर हल्के से थप्पड़ मार दिया और कहा कि क्या तुम्हे शरम नहीं आती? तो राजीव ने हसंते हुए भाभी को कमर से पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया और कहा कि अब शरम नहीं आती और देखते ही देखते राजीव ने भाभी के होंठो पर एक किस कर दिया.. भाभी अब गरम होना शुरू हो चुकी थी. भाभी ने भी राजीव के किस का जवाब जल्दी ही दिया और अब दोनों किस कर रहे थे और राजीव का हाथ भाभी की कमर पर इधर उधर नाच रहा था. करीब 5 मिनट बाद जब दोनों अलग हुए तो राजीव ने कहा कि बबीता तुम्हारी किस तो पहले से भी ज़्यादा मीठी हो गयी है और यह बात सुनकर भाभी ने राजीव को पकड़ कर अपनी तरफ खीच लिया और फिर से लिप किस शुरू कर दिया और किस करते करते ही राजीव ने भाभी का पल्लू सरका दिया और अब तो मुझे भाभी की छाती की गहराईयां और भी साफ नज़र आने लगी. फिर राजीव ने ब्लाउज के ऊपर से भाभी के बूब्स पर हाथ रख दिया तो भाभी ने राजीव का हाथ हटा दिया और कहा कि आज तो तुम बड़ी जल्दी में हो.. थोड़ा सब्र करो.. यह सब कुछ तुम्हारा ही है.

भाभी की बात सुनकर तो मेरा लंड और भी सख़्त होता जा रहा था और फिर राजीव ने भाभी के ब्लाउज के बटन को एक एक करके खोलना शुरू किया और थोड़ी ही देर में भाभी का ब्लाउज पूरा खुल चुका था.. जिसमें से काली ब्रा नज़र आ रही थी. तभी भाभी ने खुद को राजीव से अलग करके ब्लाउज को पूरी तरह से उतार दिया और फिर किस करने लगे.. राजीव भाभी को किस भी कर रहा था और भाभी के बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही दबा भी रहा था. फिर राजीव ने भाभी को अपने सामने खड़ा कर दिया और भाभी से ब्रा को खोलने को कहा और भाभी भी वैसा ही करती जा रही थी जैसा जैसा राजीव कह रहा था और जैसे ही भाभी ने ब्रा का हुक खोला तो राजीव ने ब्रा को खींच दिया और भाभी के गोरे गोरे बूब्स लहराने लगे. ऐसे बूब्स तो मैंने सिर्फ़ ब्लूफिल्म में ही देखे थे एकदम कसे हुए बड़े बड़े गोर बूब्स जैसे किसी हर रोज चुदती हुई रांड के होते है. फिर राजीव ने एक पल भी गवाए बिना भाभी के बूब्स को अपने मुहं में लेकर चूसना शुरू कर दिया और बीच बीच में राजीव भाभी के बूब्स पर मसाज भी कर रहा था.. जिससे भाभी के बूब्स पर लाल निशान बनते जा रहे थे. करीब 5 मिनट तक तो राजीव भाभी के बूब्स चूसता रहा.. जिससे भाभी के बूब्स लटकने शुरू हो गये और भाभी अपनी दोनों आँखे बंद करके उस चुसाई का मज़ा ले रही थी और राजीव के सर को दोनों हाथों से पकड़ कर कह रही थी कि और ज़ोर से चूसो और दूध निकाल दो. राजीव बूब्स को चूसते चूसते भाभी की साड़ी भी उतारने लगा और उसके बाद उसने मौका पाकर पेटीकोट भी उतार दिया तो भाभी अब सिर्फ़ पेंटी में खड़ी थी और राजीव अभी भी भाभी के बूब्स चूस रहा था. फिर भाभी ने राजीव की शर्ट उतारनी शुरू की और राजीव की पेंट भी उतार दी.. राजीव का लंड उसकी अंडरवियर में टेंट बना हुआ खड़ा था. तभी भाभी ने पता नहीं क्यों थोड़ा ज़ोर से कहा कि बहुत सालों के बाद आज मुझे तुम्हारे लंड का मज़ा मिलेगा और भाभी ने राजीव की अंडरवियर को उतार दिया और लंड को देखते ही चूसना शुरू कर दिया. राजीव का लंड करीब 7-8 इंच का तो होगा. राजीव ने भाभी से कहा कि में तुम्हारा वीडियो बनाना चाहता हूँ.. मेरी भाभी इतनी गरम हो चुकी थी कि उन्होंने राजीव को अपना वीडियो बनाने की इजाजत दे दी. तभी राजीव ने अपना मोबाईल निकाला और भाभी का लंड चूसते हुए वीडियो बनाना शुरू कर दिया और अब राजीव का लंड चमक रहा था. इसके बाद राजीव ने भाभी की पेंटी उतार दी. भाभी ने वैसे ही किया जैसा मैंने कहा था.. भाभी ने अपनी चूत के बालों को साफ कर लिया था और साफ चूत देखते ही राजीव ने अपनी उंगलियाँ भाभी की चूत पर घुमानी शुरू कर दी और धीरे धीरे एक उगंली भाभी की चूत में डाल दी और करीब दो मिनट तक ऐसा करने के बाद भाभी ने राजीव से कहा कि अब और बर्दाश्त नहीं होता.. प्लीज़ चोदो मुझे. तो राजीव ने मोबाईल को एक टेबल पर बेड की तरफ घुमाकर रख दिया और मोबाईल का केमरा अभी भी चालू था.

फिर राजीव ने भाभी को बेड पर लेटा दिया और अपने लंड को भाभी की चूत पर रखकर सहलाने लगा और मेरी भाभी प्यासी मछली की तरह तड़प रही थी. तभी राजीव ने एक ज़ोर के धक्के के साथ अपना लंड भाभी की चूत में डाल दिया और भाभी दर्द से चिल्लाने लगी और कहने लगी कि जानवर की तरह क्यों कर रहे हो? तो इस पर राजीव ने कहा कि बहुत सालों के बाद तुम्हे चोद रहा हूँ.. आज मेरे अंदर का जानवर तो जागेगा ही.. इस पर भाभी स्माईल करने लगी और कहने लगी कि फिर तो मुझे तुम्हारा पहले वाला जानवर देखना है. फिर राजीव भाभी को चोदता रहा और भाभी आहाअहह माँ अह्ह्ह एसस्स्सस्स की आवाज़ निकालने लगी.. जिससे राजीव को और भी जोश आ रहा था. तभी 10 मिनट के बाद राजीव ने कहा कि में तुम्हे कुतिया बनाकर में चोदना चाहता हूँ और फिर भाभी मान गयी तो राजीव ने मोबाईल को बेड के सामने रख दिया और चुदाई करने लगा. तभी दरवाजे के बाहर में भी अपने खड़े लंड को सहलाने लगा. राजीव के झटको से भाभी के बूब्स ऐसे लहरा रहे थे जैसे गुब्बारे हवा में लहराते है. 5 मिनट बाद राजीव ने भाभी को फिर से लंड चूसने को कहा और भाभी बिना कुछ सोचे लंड चूसने लगी. राजीव का लंड फिर से चमकने लगा.. क्योंकि चुसाई फिर से स्टार्ट हो गयी थी. तभी मैंने देखा कि भाभी के चेहरे पर एक अजीब सी स्माईल आ गयी और उन्होंने राजीव को रुकने को कहा.

तभी राजीव सोचने लगा कि बबिता ने रुकने को क्यों कहा? और भाभी दरवाज़े की तरफ आने लगी.. तो यह देख कर में बहुत डर गया कि कहीं राजीव को पता ना चल जाए कि में भी घर में हूँ.. लेकिन भाभी दरवाज़े के पास आकर रुक गयी और मेरी तरफ़ चेहरा करके झुक गयी और राजीव से बोला कि चोदो मुझे. तो राजीव ने भाभी को फिर से चोदना शुरू कर दिया और में सामने से अपनी भाभी को चुदते हुए देख रहा था और राजीव का हर एक झटका भाभी के चहरे पर सूकून ला रहा था और पूरा कमरा थप थप थप की आवाज़ से भर गया था. भाभी मुझसे बस 10 इंच की दूरी पर चुद रही थी और भाभी मुझे अपनी चुदाई दिखाने के लिए दरवाज़े पर आई थी. राजीव पीछे से भाभी को झटके मार रहा था और दोनों हाथों से भाभी के बूब्स दबा रहा था. तभी राजीव ने कहा कि मेरा झड़ने वाला है.. तो भाभी ने राजीव को अभी झड़ने से मना कर दिया और राजीव का लंड अपनी चूत से बाहर निकाल दिया. फिर थोड़ी देर दोनों आराम से खड़े रहे और 5 मिनट बाद भाभी ने राजीव से कहा कि इस बार मुझे पूरे ज़ोर से धक्के लगाना और जब झड़ने वाला हो तो लंड बाहर निकाल लेना.. मुझे तुम्हारा वीर्य पीना है. तो राजीव ने केमरे को फिर से सेट किया और इस बार राजीव ने शुरू से ही स्पीड पकड़ ली और ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा और भाभी भी गांड हिलाकर राजीव का पूरा पूरा साथ दे रही थी और ज़ोर ज़ोर से अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ कर रही थी. फिर 5 मिनट बाद ही राजीव ने कहा कि मेरा लंड फिर से झड़ने वाला है. तो भाभी ने राजीव के लंड को मुहं में लेकर चूसना शुरू कर दिया और राजीव ने मोबाईल अपने हाथों में ले लिया और भाभी को लंड चूसते हुए रिकॉर्ड करने लगा. तभी थोड़ी देर में राजीव का वीर्य भाभी के मुहं में निकल गया और राजीव आँख बंद करके उस पल का मज़ा ले रहा था और मेरी भाभी उसके लंड को चाट चाटकर चमकाने में लगी हुई थी. इसके बाद राजीव ने कैमरा बंद कर दिया और उसके बाद दोनों ही बेड पर नंगे लेटे रहे और वो भाभी के बूब्स को लगातार चूसता और दबाता रहा और फिर तीन बजे के आस पास राजीव ने अपने कपड़े पहने और यह देखकर में से अपने रूम में चला गया. तो राजीव भाभी को एक ज़बरदस्त लिप किस करके अपने घर चला गया. राजीव के जाने के बाद में अपने रूम से निकला और बाथरूम में जाकर मुठ मारने लगा और आज भी भाभी को जब राजीव के साथ सेक्स करना होता है तो वो मेरी मदद लेती है और इसके बदले में भाभी मेरा लंड चूस लेती है और मेरी मुठ मार देती है और में भाभी के बूब्स चूस लेता हूँ ..



"indian hot sex stories""hindi group sex stories"www.hindisex.com"hindi sex story kamukta com""indian sex stries""sexe stori""hindi sexy story hindi sexy story""devar bhabhi hindi sex story""indian gay sex story""sexy kahaniyan""hot sexy stories""desi indian sex stories""ma ki chudai""sexy storis in hindi""chachi ki chut""desi chudai kahani""gay sex story""teacher ki chudai""sex stor""desi sex kahani""adult sex kahani""sexe stori""behen ki chudai""sex stories indian""jabardasti chudai ki story""hindi sexy khanya""sexy story in hinfi""odia sex story""bhai se chudwaya""baap beti ki chudai""bhabhi ki chudai kahani""sex sex story""mastram ki sexy story""hindi ki sexy kahaniya""gay sex stories in hindi""xxx hindi stories""chudai kahani""sagi bahan ki chudai ki kahani""chudai mami ki""sexy kahaniya""indian sex in hindi""hot sex stories in hindi""maa ki chudai ki kahani""sali ki chut""chodan .com""sex with sister stories""sex story in hindi with pic""new sex stories in hindi""hindi group sex stories""hindi secy story""hindi chudai ki kahaniya""school sex stories""first sex story""hindi sx story""maa beta sex""chodan khani""chudai mami ki""desi hindi sex story"www.kamukata.com"padosan ki chudai""indian sex atories""ladki ki chudai ki kahani""sexi sotri""mastram ki kahani""sexstories hindi"hindisexystory"hindisexy storys""office sex story""hot kamukta com"gropsex